आजादी का अमृत महोत्सव तो मना रहे हैं लेकिन समस्याओं के रूप में विष भी खूब बिखरा पड़ा है

आजादी का अमृत महोत्सव तो मना रहे हैं लेकिन समस्याओं के रूप में विष भी खूब बिखरा पड़ा है

दुःखद स्थिति है कि जिस दिन अमृत महोत्सव का प्रारंभ हो रहा था,

दुःखद स्थिति है कि जिस दिन अमृत महोत्सव का प्रारंभ हो रहा था,

उसी दिन सागर से निकले हलाहल विष से भी बुरा समाचार मिला कि इंटरनेशनल ट्रांसपेरेंसी संस्था ने

उसी दिन सागर से निकले हलाहल विष से भी बुरा समाचार मिला कि इंटरनेशनल ट्रांसपेरेंसी संस्था ने

भारत को दुनिया के सबसे भ्रष्ट दस देशों में रखा है। यानी हम भ्रष्ट हो गए।

भारत को दुनिया के सबसे भ्रष्ट दस देशों में रखा है। यानी हम भ्रष्ट हो गए।